पत्रकार पवन जायसवाल से मिले पत्रकार विकास परिषद के पदाधिकारी, संवाद न्यूज एमडी कमलेश कुशवाहा एवं ब्यूरो प्रमोद सिंह सेंगर की विशेष रिपोर्ट

0
142

पत्रकारों पर प्रशासनिक अधिकारियों की तानाशाही निंदनीय-एस०के०कुसमाकर

मिर्जापुर मे पत्रकार पवन जायसवाल से मिला पत्रकार विकास परिषद का प्रतिनिधि मंडल

उ०प्र०के मिर्जापुर जिले के स्थानीय पत्रकार पवन जायसवाल द्वारा विगत दिनों एक विद्यालय में मध्यान्ह भोजन में नमक-रोटी बच्चों को दिऐ जाने के मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था । जिस पर प्रशासनिक नाकामी को छुपाने के लिए मिर्जापुर के डीएम महोदय ने भ्रष्टाचारी कर्मचारियों को संरक्षण देते हुऐ समाचार प्रकाशित करने वाले पत्रकार पवन जायसवाल को ही आरोपी बनाते हुऐ मुकदमा पंजीबद्ध करा दिया । जिससे जहाँ एक ओर पूरे पत्रकार जगत में व्यापक आक्रोश है तो वहीँ कई पत्रकार संगठनों ने इस मामले में डीएम के द्वारा की गई कार्यवाही की निंदा की है एवं मिर्जापुर के स्थानीय पत्रकारों ने भी इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार से पत्रकार पवन जायसवाल के ऊपर जबरन व गलत दर्ज किया गया मुकदमा वापस लिऐ जाने एवं मिर्जापुर डीएम के विरूद्ध तत्काल कठोर कार्यवाही किये जाने की मांग की है। इसी संदर्भ में गत दिवस पत्रकार विकास परिषद के प्रतिनिधि मंडल ने पत्रकार विकास परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेन्द्र कुसमाकर के नेतृत्व मे मिर्जापुर पहुंच कर जन संदेश टाइम्स कार्यालय में पत्रकार पवन जायसवाल से मुलाकात की एवं सम्पूर्ण घटना क्रम की जानकारी प्राप्त की। । जिस सम्बंध में पत्रकार विकास परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने समाचार को प्रमुखता से प्रकाशित करने के लिए पत्रकार पवन जायसवाल की प्रसंसा करते हुए श्री कुसमाकर ने कहा कि जन हित से जुड़े विषयों को पूरी निर्भीकता से शासन-प्रशासन के संज्ञान में लाना पत्रकारों का कर्तव्य है जिस पर प्रशासनिक अधिकारियों को दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए स्वच्छ व जनहितकारी प्रशासन की छवि दिखानी चाहिए और बच्चों व आमजनमानस से जुड़े इस तरह के मामलों को प्रमुखता से उजागर कर के सरकार को भ्रष्टाचार खत्म करने में सहायक होने वाले पत्रकारों को शासन द्वारा पुरुस्कृत किया जाना चाहिए परन्तु मिर्जापुर के डीएम द्वारा पत्रकार पवन जायसवाल के प्रति की गई कार्रवाई का औचित्य समझ से परे है । पत्रकार विकास परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कुसमाकर ने मिर्जापुर डीएम द्वारा पत्रकार पवन जायसवाल के ऊपर दर्ज कराऐ गये मुकदमा को पत्रकारिता की स्वतंत्रता पर कुठाराघात बताते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री महोदय से मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए मुकदमा वापस लिए जाने एवं पत्रकार को प्रताड़ित करने के लिए मिर्जापुर डीएम के विरुद्ध कठोर कार्रवाई किये जाने की मांग की है । प्रतिनिधि मंडल में शामिल पत्रकार विकास परिषद के राष्ट्रीय सचिव शिवरतन नामदेव ने उपरोक्त घटना की कटु निंदा करते हुए कहा कि पत्रकार विकास परिषद इस मामले में मिर्जापुर के पत्रकार पवन जायसवाल के साथ है एवं पत्रकार विकास परिषद भी पूरे देश में ज्ञापन सौंप कर उचित कार्रवाई की मांग करेगा । पत्रकार विकास परिषद के सिंगरौली जिलाध्यक्ष गोबिन्द राज ने पत्रकार के ऊपर सत्य समाचार प्रकाशित करने पर डीएम साहब द्वारा झूठे आरोप में मुकदमा दर्ज कराना दुखद एवं निंदनीय बताया । पत्रकार विकास परिषद के प्रतिनिधि मंडल में राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेन्द्र कुसमाकर, राष्ट्रीय सचिव शिवरतन नामदेव, राष्ट्रीय कार्यालय प्रभारी कमलेश कुशवाहा, मध्यप्रदेश के उपाध्यक्ष प्रमोद सिंह सेंगर, सिंगरौली जिलाध्यक्ष गोबिन्द राज शामिल रहे ।इस दौरान जन संदेश टाइम्स के मिर्जापुर ब्यूरो संजय दुबे ने अपने प्रतिनिधि पवन जायसवाल के साथ हुऐ घटना क्रम को दुर्भाग्य पूर्ण बताते हुए कहा कि इस लड़ाई में हम सब पवन जायसवाल के साथ है। जनसंदेश टाइम्स के ब्यूरो चीफ संजय दुबे ने पत्रकार विकास परिषद द्वारा पत्रकार पवन जायसवाल के प्रति आत्मीय संवेदना व्यक्त करने के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित संगठन के समस्त पदाधिकारियों का आभार प्रकट किया।

संवाद न्यूज एमडी कमलेश कुशवाहा एवं ब्यूरो प्रमोद सिंह की विशेष रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here