अबैध उत्खनन एवं रेत परिवहन के दम पर चल रहा लाल ईंट भट्ठों का कारोबार, खनिज विभाग मौन, सिंगरौली से संवाद न्यूज ब्यूरो गोबिन्द राज की रिपोर्ट

0
163

सिंगरौली – मोरवा थाना अंतर्गत इन दिनों लाल ईंट भट्ठों का कार्य जोर शोर से काम चल रहा है नालो एवं छोटे नदियों से अवैध रेत का उत्खनन भी चल रहा है बताया जाता है कि अमरजीत गुप्ता इन दिनों लाल ईंट भट्ठों को संचालित कर रहा है वही अपने ट्रैक्टर के माध्यम से आसपास के पेड़ पौधों को भी नष्ट करते हुए अवैध रेत उत्खनन कर बेच रहा है लेकिन इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को भी है लेकिन कार्यवाही के नाम पर सिर्फ दिखावा हो रहा है सूत्र बताते हैं कि बूढी माई पजरेह बस्ती जद्दू डाड रांची बस्ती चटका चंद्रपुर सहित वार्ड क्रमांक 10 राइस मिल के पास अमरजीत गुप्ता का ईट भट्ठा चलता है जो चोरी के कोयले को खरीद कर जलाते हैं अगर चोरी नहीं करते तो इन्हें कोयला कहां से मिलता है हम आपको बताना चाहेंगे कि एन सी एल झिगुरदा कि जो ओवरबर्डन की डंपिंग यार्ड क्षेत्र है वहां पर मिट्टी युक्त कोयला डंप होता है जिसे मजदूरों द्वाराकोयले को चुनकर इकट्ठा कराया जाता है और फिर उसे आसपास के भट्ठों में साइकिल के माध्यम से पहुंचाया जाता है वही आसपास के पेड़ पौधों को भारी मात्रा में नष्ट किया जा रहा है वही से ट्रैक्टर के द्वारा अवैध रेत और मिट्टी निकासी कर क्षेत्र में बेची जा रही हैं एक ओर पूरा शहर लॉक डाउन है वही मोरवा क्षेत्र में इन दिनों अवैध कार्य जोर.शोर से चल रहे हैं आखिर अवैध कारोबारियों पर कार्यवाही ना करना कई सवाल खड़ा करता है क्योंकि मोरवा क्षेत्र पहले से ही सीकेडी के नाम से चर्चित है लेकिन अब तो और भी अवैध कार्यों में नाम सामने आने लगा लोगों में चर्चा है कि मोरवा क्षेत्र में कबाड़ और कोयले सहित डीजल का भी अवैध कारोबार जोरों पर चलता है लेकिन लॉक डाउन होने की वजह से इस समय कई अवैध कारोबार पर कुछ अंकुश लग गया है लोगों के चर्चा के अनुसार आगे बात करें तो जैसे जैसे लॉक डाउन खुल रहा है वैसे वैसे अवैध कारोबारी सक्रिय होते जा रहे हैं।। वहीं दूसरी ओर अमरजीत गुप्ता इन दिनों आसपास के जंगल झाड़ियों को खत्म करने में लगा है और अवैध रेत उत्खनन कर आसपास के क्षेत्र में बेचने का भी कार्य चल चला रहा है । लोगों में आक्रोश है कि एक और पूरा शहर लोक डाउन है कैसे अवैध कारोबार संचालित संचालित कर रहा है।

गोबिन्द राज, ब्यूरो संवाद न्यूज सिंगरौली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here