देश का हर बल्ब जलता रहे, इसलिए खदानों में तैनात हैं एनसीएल कर्मी,सिंगरौली से संवाद न्यूज ब्यूरो गोबिन्द राज की रिर्पोट

0
20

मध्यप्रदेश राज्य के सुदूर पूर्व स्थित सिंगरौली जिला जो देश के एक बड़े हिस्से को अपनी बिजली से रौशन करता हैं। ऊर्जा राजधानी के नाम से मशहूर सिंगरौली में हजारों मेगावाट बिजली बनती हैं जिसके लिए निर्बाध कोयला सप्लाई की ज़िम्मेदारी विश्व की सबसे बड़ी कोयला कंपनी की अनुषंगी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) के कंधों पर हैं । जिसके लगभग 15 हजार कर्मी दिन रात एक करके देश की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं ।

इस समय जब विश्व एक कोरोना वायरस (कोविड 19) की महामारी से गुजर रहा हैं ऐसे दौर में एनसीएल की निगाही खदान के ईस्ट सेक्शन में तैनात शोवेल आपरेटर श्री सुशांतो गोस्वामी हैं, जो कोरोनो वायरस से उत्पन्न स्थिति के बावजूद बाक़ी कोल कर्मियों की तरह राष्ट्र की ऊर्जा सुरक्षा के लिए इस आपदा की स्थिति में भी बिजली की आबाध आपूर्ति हेतु एक योद्धा की तरह काम करे रहें हैl

श्री सुशांतो की तरह की एनसीएल 10 खुली खदानों से कोयला आपूर्ति सुनिश्चित करने के के लिए हजारों कर्मी दिन रात अपनी परवाह किए बगैर कार्यस्थल पर डटे हुए हैं ताकि देश अंधेरे में न डूबे…

चाहे वो अस्पतालों में डॉक्टर हो या मेडिकल स्टाफ, सुरक्षा से लेकर पानी आपूर्ति करने वाले सभी के इस जज्बे को सलाम ….

गोबिन्द राज, ब्यूरो संवाद न्यूज सिंगरौली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here