नीलेश द्विवेदी हत्याकांड. कांड का पन्ना पुलिस ने किया खुलासा, पढ़िये पूरी खबर, संवाद न्यूज ब्यूरो दीपक शर्मा की खास रिपोर्ट

0
388

पन्ना जिले के बहुचर्चिच नीलेश द्विवेदी हत्याकांड का खुलासा

मामले मे 09 आरोपी गिरफ्तार 02 कट्टा एवं 02 जिंदा कारतूस बरामद

दिनांक 26.07.19 को फरियादी राजेश शुक्ला पिता श्री रामचरण शुक्ला उम्र 40 वर्ष नि0 मोहनपुरा द्वारा चौकी ककरहटी मे देहाती नालसी पर रिपोर्ट की गई थी कि आज दिनांक को मैं सब्जी खरीदकर नीलेश द्विवेदी के साथ उसकी मोटर साइकिल पर पीछे बैठकर के अपने घर वापस आ रहा था कि तभी रास्ते मे अटरहा नाला के पास रिपटा के पास लाल साहब उर्फ वासुदेव बुन्देला अपने साथियो भूपत अहिरवार , जगदीश राजपूत और सत्तार खान निवासी पन्ना के साथ रोड पर खडे थे जो मोटर साईकिल रोककर भूपत अहिरवार एवं जगदीश राजपूत मुझे मोटर साईकिल से उतार कर गले में हाथ डाल कर रोड के किनारे ले गये और आगे पुलिया के पास नीलेश द्विवेदी को रोककर लाल साहब बुन्देला ने पिछली सरपंची के चुनाव की बुराई पर से जान से मारने की नियत से कट्टा से दो फायर नीलेश द्विवेदी को मारे जो बाये पैर के घुटना व घुटना के नीचे लगे नीलेश को गोली मार कर चारो लोग मोटर साईकिलो में बैठकर मुराज तरफ भाग गये । नीलेश को इलाज हेतु अस्पताल ले जाया गया । फरियादी की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली पन्ना मे अप.क्र. 522/19 धारा 307,34 भादवि 25,27 आर्म्स एक्ट का कायम किया गया ।मामले की गंभीरता को देखते हुये पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री मयंक अवस्थी द्वारा स्वयं घटना स्थल पर पहुँचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया गया । इलाज दौरान रीवा अस्पताल मे आहत नीलेश द्विवेदी की मृत्यु हो जाने पर मामले मे आरोपियो के विरूद्ध धारा 302 भादवि का इजाफा किया गया । पुलिस अधीक्षक पन्ना के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री बी.के. एस. परिहार के कुशल मार्गदर्शन तथा एस.डी.ओ.पी. श्री आर.एस. रावत के नेतृत्व मे आरोपियो की गिरफ्तारी हेतु 03 विशेष पुलिस टीमो का गठन किया गया जिसमे एक टीम की कमान नगर निरीक्षक कोतवाली पन्ना अरविन्द कुजूर दूसरी टीम की कमान उनि एम एल यादव एवं तीसरी टीम की कमान उनि सुशील शुक्ला को सौपी गई उक्त पुलिस टीम एवं सायबर सेल की मदद से आरोपियो की गिरफ्तारी हेतु घटना दिनांक से सतत् प्रयास किये गये पुलिस द्वारा अपने मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय किया गया । मुखबिर सूचना एवं सायबर सेल की मदद से तकनीकी साक्ष्यो के आधार पर घटना के मुख्य आरोपी लाल साहब उर्फ वासुदेव सिंह बुन्देला निवासी समाना की बातचीत FIR मे नामजद आरोपियो के अलावा छतरपुर तरफ के अन्य लोगो से होना पाया गया एवं लाल साहब एवं छतरपुर तरफ के अन्य संदेहियो की मौजूदगी घटना स्थल के आसपास एवं घटना स्थल पर 1 दिन पूर्व से घटना समय तक पाई गई एवं उक्त व्यक्तियो का संपर्क लाल साहब सिंह से होना पाया गया तकनीकी साक्ष्य के आधार पर घटना स्थल पर उपस्थित सन्तराजा उर्फ मानवेन्द्र सिंह परमार निवासी बुढरख,विवेक सिंह बुन्देला निवासी भगवां, विकास द्विवेदी निवासी बजरंग नगर छतरपुर , गोलू उर्फ महिपाल सिंह परमार निवासी नयागाँव ,अभिषेक शुक्ला के घरो मे जाकर पुलिस द्वारा पता किया गया जो घटना के एक दिन पूर्व से अपने अपने घरो मे मौजूद नही थे । संदेहियान की पतारसी एवं गिरफ्तारी मे लगी पुलिस टीमो द्वारा अलग अलग संभावति जगहो मे तलाश की गई । जो दिनांक 12-13 अगस्त की दरिम्यानी रात सत्तार खान निवासी पन्ना, लालसाहब उर्फ वासुदेव सिंह बुन्देला निवासी समाना , सन्तराजा उर्फ मानवेन्द्र सिंह परमार निवासी बुढरख व सन्तराजा के साथी अभिषेक शुक्ला निवासी बरोल को दतिया, ग्वालियर तरफ जाने की सूचना प्राप्त होने पर बायपास रोड झाँसी से पकडा गया एवं पूँछताछ की जो पूँछताछ पर लालसाहब द्वारा अपने साथी जगदीश राजपूत, भूपत अहिरवार, सत्तार खान, सन्तराजा परमार , अभिषेक शुक्ला, विकास द्विवेदी, गोलू परमार, विवेक सिंह व अज्जू उर्फ अजय परमार के साथ घटना कारित करना बताया । बाद पूँछताछ चारो को अभिरक्षा मे लिया एवं विवेक सिंह बुन्देला, विकास द्विवेदी , गोलू उर्फ महिपाल सिंह परमार की तलाश हेतु उनि एम एल यादव को सतना-रीवा तरफ रवाना किया गया था जो उक्त तीनो आरोपियो को सतना रोड शेरगंज के पास एवं भूपत अहिरवार, जगदीश राजपूत को उनि सुशील शुक्ला द्वारा दमोह जबलपुर रोड जबलपुर नाका के पास से पकडा गया । एवं पूँछताछ कर जुर्म स्वीकारने पर पुलिस अभिरक्षा मे लिया गया । तथा आरोपी सन्तराजा उर्फ मानवेन्द्र सिंह परमार एवं उसके साथी अभिषेक पिता घनश्याम शुक्ला निवासी बरोल अन्धेरी ईस्ट मुंबई से मुताबिक मेमोरेण्डम घटना मे प्रयुक्त आलाजर्ब एक 12 बोर का देशी कट्टा, 01 जिन्दा कारतूस सन्तराजा से एवं एक 315 बोर का देशी कट्टा व 01 जिन्दा कारतूस अभिषेक शुक्ला से जप्त किया गया है मामले मे निम्न आरोपियान को गिरफ्तार किया गया है –
1. लालसाहब उर्फ वासुदेव सिंह बुन्देला पिता स्व.मुन्नू राजा उर्फ दिवाकरदेव बुन्देला उम्र 30 साल निवासी समाना थाना कोतवाली पन्ना
2. जगदीश सिंह पिता रामसिंह राजपूत उम्र 55 वर्ष निवासी रनवाहा थाना कोतवाली पन्ना जिला पन्ना
3. भूपत पिता नन्दी अहिरवार (चौधरी) उम्र 45 साल निवासी घटारी थाना कोतवाली पन्ना
4. शेख सत्तार पिता शेख सकूर उम्र 53 साल निवासी आगरा मोहल्ला पन्ना थाना कोतवाली पन्ना
5. गोलू उर्फ महिपाल सिंह पिता बहादुर सिंह परमार उम्र 23 साल नि. नयागांव थाना पिपट छतरपुर
6. विकास द्विवेदी पिता कृष्णकुमार द्विवेदी उम्र 22 साल निवासी पन्ना नाका बजरंगनगर जीवन ज्योती कालोनी छतरपुर
7. सन्तराजा उर्फ मानवेन्द्र सिंह पिता गोविन्द सिंह परमार निवासी बुढरख थाना महराजपुर छतरपुर
8. विवेक सिंह पिता बलबीर सिंह बुन्देला उम्र 24 साल निवासी भगवां जिला छतरपुर
9. अभिषेक पिता घनश्याम शुक्ला उम्र 26 साल निवासी निवासी बरोल अन्धेरी ईस्ट मुंबई ( महाराष्ट्र )
मामले मे आरोपी अज्जू उर्फ अजय परमार निवासी बडामलहरा का फरार है जिसकी गिरफ्तारी होना शेष है ।
उक्त सम्पूर्ण कार्यवाही मे नगर निरीक्षक कोतवाली अरविन्द कुजूर , उनि एम एल यादव, उनि सुशील शुक्ला , उनि राकेश तिवारी , उनि एम डी शाहिद, प्र. आर. रामकृष्ण पाण्डेय , शिवेन्द्र सिंह, कुंजबिहारी सिंह,प्रेमलाल पाण्डेय, आर. बृषकेतु रावत, सरवेन्द्र , बीरेन्द्र , रामपाल, राहुल सिंह बघेल, आईमात सेन, नितिन मिश्रा, तेजेन्द्र राजौरा , दीपप्रकाश, बृह्मदत्त शुक्ला, सलीम खान, रविकरन सिंह, प्रदीप पाण्डेय, कमलेश नगायच एवं सायबर सेल से सूबेदार नेहा सिंह , नीरज रैकवार, आशीष अवस्थी , धर्मेन्द्र सिंह राजावत का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा पुरुष्कृत करने की घोषणा की गई है ।

(पन्ना संवाद न्यूज ब्यूरो-दीपक शर्मा की रिपोर्ट)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here