मध्यप्रदेश के सीधी में दर्दनाक हादसा : 54 यात्रियों से भरी बस नहर में गिरी,20 महिलाओं और एक बच्चे समेत 47 की मौत,संवाद न्यूज एमडी कमलेश कुमार की रिपोर्ट

0
331

मध्यप्रदेश के सीधी में मंगलवार को बड़ा सड़क हादसा हो गया। सीधी के रामपुर नैकिन थाना अंतर्गत 54 यात्रियों से भरी बस नहर में गिर गई। अब तक 47 शव निकाले जा चुके हैं। इस ह्र्दय विदारक हादसे के बाद सात लोगों को बचाया गया, इसमें से दो लोगों की जान वही गाँव की बच्ची शिवरानी ने अपनी जान जोखिम में डाल कर बचाया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह बच्ची की तारीफ
वहीं ड्राइवर तैरकर बच निकला। उसे हिरासत में लिया गया। मृतकों में एक बच्चा, 20 महिलाएं और 26 पुरुष शामिल हैं।

मुख्यमंत्री ने ₹ 5-5 लाख रुपये मुआवजे की घोषणां की

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बस हादसे को लेकर सीधी के कलेक्टर से बात की। दर्दनाक हादसे को देखते हुए शिवराज सिंह ने गृह प्रवेश कार्यक्रम को स्थगित कर दिया। मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की गई। इनमें 10-10 हजार रुपये तत्काल प्रभाव से पीड़ित परिजनों को दिए जाएंगे।
जानकारी के मुताबिक, जिस समय यह हादसा हुआ, बस सीधी से सतना जा रही थी और स्पीड में बस होने पर साईड लेने के दौरान वह पुलिया से सीधे नहर में जा गिरी। घटना की खबर मिलते ही आसपास के ग्रामीण व अन्य लोग बस में फंसे लोगों की मदद में जुट गए। घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठे हो गए। प्रशासन के साथ एसडीआरएफ और गोताखोरों की टीम ने मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिया। घटना की जानकारी लगते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं मौके पर कोहराम मचा हुआ है। नहर की गहराई 20 से 22 फीट बताई जा रही है। हादसे के चार घंटे बाद 11:45 बजे क्रेन की मदद से बस को बाहर निकाला गया।

चालक की जल्दबाजी ने लील लीं जिंदगियां

पुलिस के मुताबिक, बस की क्षमता 32 सवारियों की थी, लेकिन इसमें 54 यात्री भर लिए गए थे। बस को अपने तय समय पर सुबह पांच बजे रवाना होना था, लेकिन ये सुबह तीन बजे रवाना हो गई। सीधी मार्ग पर छुहिया घाटी से होकर बस को सतना जाना था, लेकिन यहां जाम की वजह से ड्राइवर ने रूट बदल दिया। वह नहर के किनारे से बस ले जा रहा था। यह रास्ता काफी संकरा था और इसी दौरान ड्राइवर ने संतुलन खो दिया, जिसके चलते बस खाई में गिर गई। बस के नहर में गिरते ही ड्राइवर बालेंद विश्वकर्मा ने तैरकर अपनी जान बचा ली। वह रीवा जिले के हरदुया सेमरिया गांव का रहने वाला है। बता दें कि झांसी से रांची के जाने वाला हाईवे सतना, रीवा, सीधी और सिंगरौली होते हुए जाता है। यहां जगह-जगह सड़क खराब और अधूरी है। इस वजह से यहां आए दिन जाम की स्थिति बनी रहती है।

पीएम ने अनुग्रह राशि की घोषणा की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीधी बस हादसे पर दु:ख जताया। साथ ही मृतकों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये की मुआवजा देने और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50 हजार रुयये दिए जाने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने इसकी जानकारी दी।

गृह मंत्री शाह ने शिवराज से की बात

गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात की है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मध्य प्रदेश के सीधी जिले में हुआ बस हादसा बहुत दुःखद है, मैंने मुख्यमंत्री शिवराज जी से बात की है। स्थानीय प्रशासन राहत व बचाव के लिए हर संभव मदद पहुंचा रहा है। मैं मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं व घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

बस का परमिट किया गया रद्द

वहीं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने बस का परमिट रद्द कर दिया है। साथ ही ट्रांसपोर्ट कमिश्नर को इस हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। ये बस ज्वालानाथ परिहार ट्रेवल्स की थी। बस के मालिक कमलेश्वर सिंह हैं। मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि जांच में जो भी दोषी होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

बचाव टीम के संपर्क में थे शिवराज

शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर तत्काल संज्ञान लिया। उन्होंने कहा, ”नहर काफी गहरी है। हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया और राहत और बचाव दलों को रवाना किया। कलेक्टर, एसपी और एसडीआरएफ की टीम वहां है। बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं। मैं राहत और बचाव कार्य करने वाली टीम के संपर्क में हूं। सात साथी बचाए जा चुके हैं।”

गृह प्रवेश कार्यक्रम एवं कैबिनेट बैठक स्थगित किया

मध्यप्रदेश के सीधी में मंगलवार सुबह बस दुर्घटना के बाद प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत राज्य में निर्मित एक लाख नए आवासों के लाभार्थियों के लिए गृह-प्रवेश कार्यक्रम को स्थगित कर दिया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को इस गृह-प्रवेश कार्यक्रम में लाभार्थियों के लिए नए आवासों का ऑनलाइन लोकार्पण करना था। शिवराज सिंह ने गृह प्रवेश कार्यक्रम को स्थगित एवं कैबिनेट बैठक करने की जानकारी देते हुए कहा, आज हम बड़े उत्साह से 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम संपन्न करने वाले थे, लेकिन सुबह 8 बजे ही मुझे ये सूचना मिली कि सीधी जिले के बाणसागर नहर में यात्रियों से भरी एक बस नहर में गिर गई है। इसलिए आज कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा।इसे किसी और दिन करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने जताया दु:ख

इससे पहले, मुख्यमंत्री चौहान ने ट्वीट किया, ‘‘सीधी में सतना जा रही बस के नहर में गिरने से हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के काल कवलित होने के समाचार से बहुत दुख हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्री चरणों में स्थान देने और लापता लोगों के सुरक्षित होने की प्रार्थना करता हूं।’’

जनप्रतिनिधियों ने परिजनों से मिल कर ढाढस बधाया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर मध्य प्रदेश शासन के मंत्री तुलसी राम सिलावट एवं रामखेलावन पटेल पहुचे । मृतक के परिजनों के साथ ढाढस बधाया , चुरहट विधायक व सीधी सांसद रीति पाठक भी रही मौजूद।

अधिकारियों पर गिर सकती है गाज

शिवराज सीधी बस हादसे को लेकर परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत से मुख्यमंत्री आवास में चर्चा कर रहे हैं। लापरवाह अधिकारियों पर गाज गिर सकती है। प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत ने बताया कि बस का परमिट रद्द कर ट्रांसपोर्ट कमिश्नर को इस हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जांच में जो भी दोषी होगा, छोड़ा नहीं जाएगा। डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर को घटनास्थल पर भेजा गया है।

शिवराज ने कल के सभी कार्यक्रम स्थगित किए

सीधी हादसे के बाद शिवराज ने अपने कल यानी बुधवार को होने वाले सारे कार्यक्रम स्थगित कर दिए हैं। वे 17 फरवरी को दमोह जाने वाले थे, लेकिन अब दमोह दौरा स्थगित कर दिया गया है। दमोह में होने वाले कल के सभी कार्यक्रम आगामी सूचना तक स्थगित कर दिए गए हैं।

संवाद न्यूज परिवार ने दी विनम्र श्रद्धांजलि,जताया दुख

सीधी बस हादसे में काल के गाल में समा 47 जिंदगीयों के दर्दनाक मौत पर संवाद न्यूज परिवार ने गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए इसे इतिहास में काला दिन निरूपित किया है साथी दिवंगत लोगों के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मृत आत्माओं को शांति प्रदान करने हेतु ईश्वर से प्रार्थना की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here