शहपुरा समिति सेवक कर रहा किसानों के साथ धोखाधड़ी एवं बदसलूकी व किसान को धमकी देने का आरोप अजयगढ से संवाद न्यूज़ ब्यूरो जयराम पाठक की रिपोर्ट

0
69

शहपुरा के पीड़ित किसान ने मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर की कार्यवाही की मांग

अजयगढ छेत्र के समिति कर्मियों की तानाशाही व बदसलूकी से परेशान है क्षेत्रीय किसान

अजयगढ़। पन्ना जिले के अजयगढ़ तहसील क्षेत्र के किसान समिति कर्मियों की तानाशाही और बदसलूकी की वजह से काफी परेशान बताए जा रहे हैं। आए दिन किसानों के साथ धोखाधड़ी एवं बदसलूकी के मामले सामने आ रहे हैं, शिकायतों पर कार्यवाही नहीं होने से भ्रष्ट और तानाशाह कर्मचारियों के हौसले बुलंद हैं, ऐसा ही एक मामला शहपुरा समिति से सामने आया है, ग्राम गुरुदीन पुरवा निवासी लघु सीमांत कृषक अयोध्या प्रसाद शुक्ला पिता स्वर्गीय लक्ष्मी प्रसाद शुक्ला द्वारा मुख्यमंत्री के नाम अजयगढ़ एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर समिति सेवक के कारनामों की जांच करवा कर कार्यवाही की मांग की गई है। कृषक द्वारा ज्ञापन में लेख किया गया है कि मेरे द्वारा प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति शहपुरा में वर्ष 2011 में खाद बीज हेतु 8000 रुपए का कर्ज जाना लेख था जबकि मेरे द्वारा मात्र 6359 की खाद ली गई थी, नगद राशि भी मुझे नहीं दी गई, मेरे द्वारा समिति में जमा हिस्सा की राशि 4000 जमा कर दी गई थी, जिसमें मात्र खाद की राशि में ब्याज के शासन द्वारा कर्ज माफी योजना के तहत माफ किया जा चुका है। जिसका कर्ज माफी का प्रमाण पत्र दिया गया है, 27 जून 2019 को पुनः मेरे नाम पर 1983 रुपए की खाद ली गई जो मेरे द्वारा नगद जमा कर दी गई है, मेरे ऊपर अब कोई भी राशि समिति को देना से इस नहीं है, जबकि समिति सेवक द्वारा जबरन कर्ज चढ़ाया गया है। यह बात समिति सेवक से कहने पर उसके द्वारा अश्लील गालियां देते हुए जान से मारने एवं झूठा मुकदमा दर्ज करवाने की धमकी दी जा रही है। 23 दिसंबर 2020 को ग्राम बहिरवारा में सहकारी समिति अजयगढ़ के मैनेजर के सामने भी मेरे साथ गाली गलौज कर मुझे अपमानित कर चुका है। सीएम हेल्प लाईन में शिकायत करने पर गुमराह करते हुए शिकायत कटवाई जा चुकी है, जिस पर दोबारा शिकयत की गई जो लंबित है। कृषक द्वारा मनमाने तरीके से कर्ज दर्ज करने, बदसलूकी कर अपमानित करते हुए जान से मारने व झूठे मुकदमे की धमकी देने वाले समिति सेवक के खिलाफ जांच करवा कर कार्रवाई की मांग की गई है। विदित हो कि ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जिनमें कार्रवाई नहीं होने से किसानों के साथ धोखाधड़ी और बदशलूकी के मामले लगातार सामने आ रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here