सड़क दुर्घटना में घायल धरमपुर थाना प्रभारी एम.डी.शाहिद का इलाज के दौरान निधन,नीलगाय को बचाने के कारण हुई घटना, अजयगढ़ से संवाद न्यूज ब्यूरो जयराम पाठक की रिपोर्ट

0
356

पन्ना-अजयगढ़ मार्ग पर दहलान चौकी के समीप हुई दुर्घटना

अचानक सामने आई नीलगाय को बचाने के चक्कर में पेड़ से टकराया वाहन

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में रविवार देर शाम हुए एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल जिले के धरमपुर थाना प्रभारी एम. डी. शाहिद की इलाज के दौरान जबलपुर में मौत हो गई। हादसे के समय वाहन में उनके साथ रहे एक आरक्षक को भी चोटें आईं हैं। सड़क हादसे में घायल थाना प्रभारी की आज सुबह असमय मौत होने का दुखद समाचार आते ही पुलिस महकमे समेत जिले में शोक की लहर दौड़ गई।

प्राप्त जानकारी अनुसार सड़क हादसा पन्ना-अजयगढ़ मार्ग पर दहलान चौकी के समीप रविवार 10 मई की शाम 7:30 बजे के आसपास हुआ। शासकीय कार्य से पन्ना आये धरमपुर थाना प्रभारी एम. डी. शाहिद 47 वर्ष हमराही आरक्षक प्रदीप हरदेनिया के साथ बोलेरो वाहन से जब वापस धरमपुर लौट रहे थे तभी रास्ते में दहलान चौकी के समीप अचानक एक नीलगाय सामने सामने आ गई जिसे बचाने चक्कर में बोलेरो वाहन अनियंत्रित होकर सड़क किनारे स्थित एक पेड़ से टकरा गई
सड़क दुर्घटना की सूचना मिलने पर पन्ना कोतवाली थाना प्रभारी हरी सिंह ठाकुर तुरंत मौके पर पहुंचे और घायल उप निरीक्षक एम. डी. शाहिद व आरक्षक प्रदीप हरदेनिया को इलाज हेतु पन्ना लाकर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। धरमपुर थाना प्रभारी के सीने में अंदरूनी गंभीर चोटें आने से उनकी गंभीर हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद ड्यूटी डॉक्टर ने उन्हें पन्ना से मेडीकल जबलपुर के लिए रेफर कर दिया। जहाँ इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस हादसे में घायल आरक्षक प्रदीप हरदेनिया के हाथ में चोटें आईं है
सोमवार सुबह धरमपुर थाना प्रभारी एम. डी. शाहिद के दुःखद निधन का समाचार सोशल मीडिया में आने पर जिले के पुलिस महकमे से जुड़े लोगों को गहरा धक्का लगा। उल्लेखनीय है कि श्री शहीद की गिनती जिले के कर्त्वनिष्ठ और जांबाज पुलिस अधिकारी के रूप में होती थी। उन्होंने पुलिस महकमे को कई उल्लेखनीय सफलतायें दिलाने के साथ-साथ चुनौतीपूर्ण मामलों का खुलासा कर अपनी कार्यकुशलता को बखूबी साबित किया था। आमलोगों से विनम्रता से पेश आने और उनकी मदद के लिए सदैव तत्पर रहने वाले उप निरीक्षक एम. डी. शाहिद ने अल्प समय में ही धरमपुर थाना क्षेत्र के लोगों के बीच अपनी अलग पहचान बनाई थी। शायद इसीलिये धरमपुर क्षेत्र के लोग उनके निधन से काफी दुखी हैं।

उप निरीक्षक एम. डी. शाहिद के निधन पर पन्ना पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी ने भी गहरा दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि हमने एक जांबाज पुलिस अधिकारी को खो दिया है। उनका असमय निधन पुलिस विभाग के लिए बड़ी क्षति है। पुलिस अधीक्षक ने मृत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हुए शोक संतृप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की है।

हमने एक कर्मवीर योद्धा को खो दिया
पन्ना एसपी मयंक अवस्थी।

मयंक अवस्थी, एसपी पन्ना

पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी ने अपने शोक सन्देश में कहा कि आज हमारे बीच पन्ना पुलिस का एक वीर योद्धा एवं बेहद नेक दिल इंसान नहीं रहा। वे कोरोना महामारी के विरुद्ध जारी लड़ाई में पिछले डेढ़ महीने से अनवरत लगे हुए थे। डेढ़ महीने से अपने परिजनों से नहीं मिले थे और दिन-रात क्षेत्र में भ्रमण करते रहे। क्योंकि उनका क्षेत्र कोरोना की दृष्टि से बेहद संवेदनशील था इसलिए पिछले कुछ महीनों से वे लगातार समर्पित एवं कटिबद्ध थे। रविवार को भी इसी क्रम में वे ड्यूटी पर निकले थे एवं उनके थाना क्षेत्र के गांव के कोरोना संक्रमित व्यक्ति की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर आगे की कार्ययोजना बना रहे थे।

पुलिस कप्तान ने अपने शोक संदेश में उप निरीक्षक श्री शाहिद के व्यक्तित्व एवं कार्यशैली के संबंध में बताया कि, अत्यंत ही चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में भी वे हमेशा गंभीर एवं धैर्यवान रहते हुए अपनी ड्यूटी करते थे। उनसे बात करके हमेशा ही सौंपे गए कार्य की सफलता का विश्वास जागृत होता था। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति एवं उनके परिवार को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे । उन्होंने कहा कि, यह घटना पन्ना पुलिस के लिये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। जिससे समस्त पन्ना पुलिस परिवार मे शोक का वातावरण है । ऐसे समय में जब हम सब कोरोना महामारी से लड़ रहे हैं इसमें एम. डी. शाहिद जैसे अत्यंत ही मेहनती, गंभीर एवं जिम्मेदार योद्धा के जाने से हमें अपूर्णीय क्षति हुई है। इस दुखद घड़ी में पूरा पन्ना पुलिस परिवार श्री शाहिद के परिवार के साथ खड़ा है।

जयराम पाठक, ब्यूरो संवाद न्यूज अजयगढ़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here