रीवा संभाग में किल-कोरोना अभियान में होगी 5.63 लाख व्यक्तियों की प्रतिदिन जांच-कमिश्नर राजेश जैन, संवाद न्यूज एमडी कमलेश कुशवाहा की रिपोर्ट

0
4

रीवा 26 जून 2020. कोरोना के पूरी तरह से विनाश के लिए रीवा संभाग में एक जुलाई से किल-कोरोना अभियान चलाया जायेगा। अभियान के संबंध में संभाग के कमिश्नर श्री राजेश कुमार जैन ने सभी जिलों के कलेक्टरों को निर्देश देते हुए कहा है कि किल-कोरोना अभियान शासन की उच्च प्राथमिकता का कार्यक्रम है, अभियान के तहत संभाग के सभी शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर कोरोना से संक्रमितों की जांच की जायेगी। अभियान के दौरान तैनात 1190 टीमों द्वारा संभाग के लगभग 5 लाख 63 हजार व्यक्तियों की प्रतिदिन जांच की जायेगी। अभियान के दौरान संभाग की अनुमानित जनसंख्या लगभग 82 लाख 21 हजार की जांच की स्वास्थ्य जांच की जायेगी। अभियान के तहत कोरोना के साथ-साथ मलेरिया, डेंगू, हैजा तथा अन्य संक्रामक रोगों से पीड़ितों की पहचान कर उपचार सुविधा दी जायेगी।
कमिश्नर ने कहा कि सभी कलेक्टर्स तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शासन के निर्देशों के अनुसार घर-घर जाकर रोगियों की पहचान एवं जांच करन वाले दलों का तत्काल गठन कर ले। इन्हें उचित प्रशिक्षण तथा आवश्यक उपकरण जैसे- ट्रिपल लेयर मास्क, थर्मल स्केनर, पल्स ऑक्सीमीटर, दस्ताने आदि उपलब्ध करा दें। घर-घर जाकर रोगियों की पहचान आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा आशा कार्यकर्ता द्वारा की जायेगी। इसके बाद चिन्हित घरों में जाकर स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा एएनएम रोगी की जांच करके पूरा विवरण ऑनलाइन सार्थक एप में दर्ज करेंगे। इसके लिए सभी बीएमओ ग्रामवार कार्य योजना तैयार करके एक जुलाई से जांच का कार्य शुरू करायें।
कमिश्नर ने कहा कि सभी कलेक्टर तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अभियान के दौरान कोरोना संक्रमण तथा अन्य संचारी रोगों से पीड़ित पाये जाने वाले व्यक्ति के जांच एवं उपचार की तत्काल व्यवस्था करायें। अभियान की प्रतिदिन की प्रगति की जानकारी अनिवार्य रूप से दर्ज करें। अभियान को सफल बनाने के लिए जिला स्तर तथा विकासखंड स्तर पर बैठकें आयोजित कर अभियान की रणनीति तैयार कर लें। अभियान को सफल बनाने में जनप्रतिनिधियों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं का भी पूरा सहयोग ले। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अभियान में चिन्हित रोगियों की फीवर क्लीनिक अथवा अन्य अस्पतालों के माध्यम से जांच एवं उपचार की व्यवस्था करायें। अभियान के दौरान फिजिकल दूरी तथा कोरोना संक्रमण से बचाव के सभी सुरक्षात्मक उपाय करें। घर-घर जाकर रोगियों की जांच पूरी सावधानी के साथ करायें जिससे जांच दल के सदस्यों को संक्रमण का खतरा न रहे।

कमलेश कुशवाहा, एमडी संवाद न्यूज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here