कार्यवाही के नाम पर सिर्फ दिखावा और आश्वासन। अभी तक शाहनगर बीएमओ पर नहीं हुई कार्यवाही नहीं – अनिल तिवारी, पन्ना संवाद न्यूज सिटी ब्यूरो सचिन खरे की रिपोर्ट

0
181

 पन्ना।  शाह नगर जबकि टी आई श्री हरि सिंह का कहना है कारवाही का कोई समय सीमा निर्धारित नहीं होता है जबकि शासन के आदेशानुसार हर काम किए समय अवधि होती है इस समय सीमा होती है इस कौन-सी शिकायत की कार्यवाही कितने दिनों में पूरी हो जाएगी साफ साफ स्पष्ट लिखा रहता है कि शासन के आदेश अनुसार तीन दिवस में 30 दिवस के अंदर या 6 महीने के अंदर निराकरण समाधान समस्या को निपटा दिया जाएगा जबकि थाना प्रभारी का कहना है कार्यवाही की कोई समय सीमा नहीं होती है कि कितने दिनों में कार्यवाही की जाएगी और जांच रिपोर्ट आएगी आखिर यह भ्रष्टाचार कब खत्म होगा कब मिलेगी सजा आरोपी को गाज के गिरने से मौत हो जाती है और जो गाज गिरने का मुआवजा शासन द्वारा निर्धारित किया जाता है वह शब्द से हुई मौत में परिवर्तित कर दिया जाता है शिक्षा अधिकारी के द्वारा क्या कानून में ऐसा कोई प्रावधान है कि गाज गिरने का मुआवजा दो लाख होता है और सर्प दंश से मौत होने पर चार लाख का शासन द्वारा मुआवजा दिया जाता है कहां गए हो जनप्रतिनिधि जो दावा करते हैं कि जनता की हर समस्याओं का निराकरण करेंगे और निष्पक्ष जांच और कार्यवाही करवाएंगे साथ में दोषी को सजा दिलाएंगे और साथ में अगर प्रशासन की बात करें तो प्रशासन भी मामले को गंभीरता से नहीं ले रहा है कह सकते हैं कि जिले में अंधेर नगरी चौपट राजा जैसी कहानी है यहां पर पन्ना बुंदेलखंड में मामला पन्ना जिले की शाह नगर तहसील का है जहां पर जंगल राज मचा हुआ है स्वास्थ्य बंधन की घोर लापरवाही कहेंगे कि गाज गिरने का मुआवजा को सदन से हुई मौत में परिवर्तित कर दिया जाता है झूठी रिपोर्ट बनाकर सिर्फ और सिर्फ पैसे की खातिर जबकि शिकायत प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में भी प्रसारित की गई है इसके बावजूद भी नाही जनप्रतिनिधि कोई एक्शन ले रहे हैं जनप्रतिनिधि मोन बैठे हुए हैं और अगर प्रशासन की बात की जाए तो कार्यवाही के नाम पर दोषी अभी भी खुलेआम ड्यूटी कर रहा है आखिर किस चीज पर यह जांच रिपोर्ट जो बीएमओ तैयार कर रहे हैं कौन है गलत करवाने के पीछे क्यों नहीं हुई निष्पक्ष जांच और क्यों नहीं आया अभी तक जांच का कोई भी परिणाम कह सकते हैं कि शब्दों में लीपापोती करके हमेशा की तरह है मामले को ले देकर रफा-दफा कर दिया गया है चारों तरफ भ्रष्टाचारी ही भ्रष्टाचारी मची हुई है सभी की आंखों पर पट्टी बंधी हुई है चाहे वह जनप्रतिनिधि हो और चाहे प्रशासन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here