108 एम्बुलेंस वाहन चालक ने युवती से की छेड़खानी,चाकू दिखाकर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाला जान से मारने की दी धमकी,शाहनगर से पं.संजय त्रिपाठी की रिपोर्ट

0
2367

शाहनगर पुलिस थाना अंतर्गत ग्राम लमतरा का मामला लमतरा निवासी 22 वर्षीय निवासी लमतरा ने शाहनगर पुलिस थाना में एक लिखित आवेदन पत्र प्रस्तुत किया कि दिनांक 29/12/ 2019 को कटनी से अपने घर जाने के लिए सीधे वाहन नहीं मिलने पर युवती शाम के समय बस स्टैंड शाहनगर में वाहन का इंतजार कर रही थी तभी 108 एंबुलेंस वाहन जो गांव की तरफ वाहन जा रहा था उसी वाहन में घर जाने की जल्दी के चक्कर में 108 एंबुलेंस वाहन में जिसे हर्षित खरे पिता हरि शरण खरे 108 एंबुलेंस वाहन में सवार होकर

गांव की ओर बैठकर जा रही थी कि तभी 108 वाहन चालक हर्षित खरे द्वारा रास्ते में जबरदस्ती छेड़खानी तथा शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालने लगा मना करने पर चाकू दिखाकर जान से मारने की धमकी देकर गाड़ी से उतरने ना देने के संबंध में शाहनगर पुलिस थाना में एक लिखित आवेदन पत्र पेश किया गया जिसमें जुर्म धारा 354,354(क)(1)(2) , 342, 506 ताहिं का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया थाना प्रभारी शाहनगर जिला पन्ना मध्य प्रदेश विषय आरोपी हर्षित खरे पिता हरि शरण खरे उम्र 25 वर्ष निवासी शाहनगर द्वारा छेड़छाड़ करते हुए दुष्कर्म करने का प्रयास करते मारपीट किए जाने की शिकायत दर्ज कराने हेतु शाहनगर पुलिस थाना प्रभारी को एक लिखित आवेदन देकर फरियादी युवती 22 वर्ष निवासी लमतरा की रहने वाली जो कटनी में पढ़ाई कार्य कर रही है दिनांक 29/12/ 2019 को कटनी में अपने गांव लमतरा जा रही थी गांव तक के लिए सीधे वाहन ना होने से शाहनगर बस स्टैंड मे उतरकर गांव जाने के लिए बस स्टैंड में वाहन का इंतजार मंगी चौबे की दुकान में इंतजार कर रही थी तभी मंगी चौबे ने बताया कि हर्षित खरे जो 108 एंबुलेंस वाहन चलाने का कार्य करता है वह ठरका ग्राम जा रहा है उसके वाहन में गांव तक चले जाएं 108 एंबुलेंस वाहन चालक हर्षित खरे क एम्बुलेन्स गाड़ी में बैठा था उसके वाहन से गांव के लिए निकली थी और सुडौर गांव के समीप पहुंची तो हर्षित खरे बोला कि आशा कार्यकर्ता को लेना सुडौर जाना है फिर आशा कार्यकर्ता को लेकर ठरका गांव चलेंगे फिर यह गुमराह करते हुए भटिया पहाड़ी के ऊपर ले गया और मेरे साथ जबरजस्ती करते हुए छेड़खानी करने लगा बोला मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाओ नहीं तो जान से मार दूंगा और चाकू निकाल लिया उसके सामने रोई कि मैं ऐसा नहीं कर सकती हूँ मुझे छोड़ दो फिर भी वह मुझे गाली देते हुए गाड़ी जंगल की ओर बढ़ाने लगा मैं जैसे तैसे गाड़ी से बाहर निकली और दौड़ने लगी और मैंने 6:30 बजे शाम के लगभग 100 नंबर पुलिस वाहन को फोन लगाने का प्रयास किया नेटवर्क ना होने के कारण 100 नंबर पुलिस में फोन नहीं लगा फिर मैं दौड़ते दौड़ते जंगल में भटकते हुए सुडौर पहुंची फिर वहां से पैदल चलकर सुडौर मोड़ तक आई काफी देर तक बैठने के बाद मेरे गांव की शाहनगर से आटो आई फिर उस ऑटो में बैठ कर अपने घर पहुंची और अपने माता-पिता को घटनाक्रम कह सुनाया आज दिनांक 30 /12/ 2019 को माता-पिता चाची के साथ पुलिस थाना शाहनगर उपस्थित होकर लिखित शिकायत दर्ज कराई है शाहनगर पुलिस आरोपी की धरपकड़ के लिए यथासंभव प्रयास किया जा रहा है

पं.संजय त्रिपाठी, पत्रकार शाहनगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here