भ्रष्टाचार उजागर करने वाले समाज सेवी शिवानंद द्विवेदी पर लगा झूठा मुकदमा, संवाद न्यूज उपसम्पादक शिवरतन नामदेव की रिपोर्ट

ब्रेकिंग न्यूज

0
195

भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता के ऊपर झुठा मुकदमा

सच को दबाने का असफल प्रयास

कटरा – भ्रष्टाचार और अन्याय जब लगा थमने,अन्यायियो और भ्रष्टाचारियो की जब सांस लगी फूलने तब भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने वाले समाज सेवी, गौवंश रक्षक श्री शिवानन्द द्विवेद्वी के खिलाफ भ्रष्टाचारियो ने सुनियोजित तौर से षड़यत्रं रच कर सच को दबाने के लिये झुठा लुट का मुकदमा कायम करा दिया। मामला कुछ माह पूर्व का है जिसकी एक बार जांच पड़ताल हो चुकी है,थाना गढ़ द्वारा श्री द्विवेदी को क्लीन चिट भी दे दी गई थी,जाचं मे मुकदमा झुठा एवं मनगढ़त पाया गया था,लेकिन भ्रष्टाचारियो के दबाव मे एक बार फिर से उसी मामले मे फंसाने का प्रयास किया जा रहा है । बहरहाल श्री द्विवद्वी को उक्त मामले मे हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। श्री द्विवेदी का जीवन,परिचय का मोहताज नही है आप भारतीय प्रौद्योगिकी सस्ंथान आई आई टी मुम्बई से स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त,जर्मन इटली समेत दुनिया के विश्वविद्यालय से छात्रवृत्ति प्राप्त कर शोध कार्य करने वाले लाखो रुपये महीने की नौकरी छोड. कर समाज के लिए जीवन समर्पित करके अपने गृहग्राम कैथा से गौवंश रक्षा और समाज मे व्याप्त भ्रष्टाचार,अनाचार के खिलाफ आवाज उठाने का प्रण लिया।आप समाज सेवी के अलावा एक कुशल पत्रकार है,आप लेख रीवा से छपने वाले लगभग सभी पत्र-पत्रिकाओ मे छपते है। आप विगत चार -पांच साल से क्षेत्र मे गौवंश को बचाने के लिए काफी कार्य किया है।आप अपने जीवन को परोपकर के लिए समर्पित कर दिया है,अपने गांव मे ही तलाब पर बने हनुमान मदिंर के पास कुटिया बनाकर सन्त का जीवन जी रहे है जब से श्री द्विवेदी ग्राम कैथा को अपनी कर्मस्थली बनाया है तब से हनुमान मदिंर और वह तलाब तीर्थ बन गया है वहा निरतंर भगवत भजन होता रहता है,कभी मानस तो कभी भागवत तो कभी संकींर्तन एवं बृहद भण्डारे का आयोजन होता रहता है,किन्तु आश्चर्य की पुलिस प्रसाषन भी भ्रष्टाचारियो की मंशा को नही समझ पा रही है या फिर पुलिस प्रशासन जान बुझकर भ्रष्टाचारियो का सहयोग कर रही उल्लेखनीय है कि विगत कुछ वर्षों से श्री द्विवेदी ने जहा कही भी जिस भी विभाग मे भ्रष्टाचार और अनियमितता देखा है,उसे समाचार पत्रो,ट्युटर एवं शोसल मिडीया के माध्यम से उजागर करने मे कोई कोर कसर नही छोड़ा है,पुलिस प्रशासन भी इससे अछुता नही जिसके चलते स्वाभाविक रुप से भ्रष्ट प्रशासन तंत्र भी श्री द्विवदी के खिलाफ होना लाजमी है,निश्चित रुप से भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई लडना कांटों पर चलने जैसा है किन्तु यदि देश और समाज को भ्रष्टाचारियो से बचाना है तो किसी ना किसी को यह लडाई लडनी ही पडेगी किसी ने कहा है कि ‘ ना जाने सत्य की ढाल तुम्हे कब तक बचा पायेगी, भ्रष्टाचार,अनाचार,स्वार्थ के इस दौर मे कही असत्य की विजय तो नही हो जायेगी, अगर तुम जीते सत्य के साथ तो यह तुम्हारी विजय अमर बन जायेगी,लाखो को ना सही कुछ सैकडो को तो रास्ता दिखा जायेगी। श्री द्विवेदी के खिलाफ झुठा प्रकरण दर्ज कराने को लेकर लोक कल्याण कारी समिति के प्रदेशाध्यक्ष एवं पत्रकार श्री शिवरतन नामदेव व पत्रकारो के राष्ट्रीय सगंठन पत्रकार विकास परिसद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री एस के कुसमाकर जी ने उक्त झुठे प्रकरण मे श्री द्विवेदी को फंसाने की घोर निदां की है और पुलिस अधीक्षक रीवा एवं जिलाधीश महोदय से मांग किया है कि मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाये,जिससे आने वाले समय मे लोग भ्रष्टाचार के खिलाफ खडे होने का प्रयास करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here